चीन का ‘असर’ फिर भारत पर

चीन में आर्थिक उथल-पुथल का असर सभी बड़े बाजारों पर पड़ा। इस कोहराम की मुख्य वजह अमेरिकी फेडरल रिजर्व की ब्याज दरों की अटकलबाजी और चीनी मुद्रा युआन का अवमूल्यन माना जा रहा है। काफी समय से चीन का बाजार आर्थिक संघर्ष कर रहा है। विश्वभर की मंदी के कुछ खास कारण-

1 निर्यात को बढ़ावा देने के लिए चीन द्वारा किया मुद्रा अवमूल्यन।

  1. अमेरिकी फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष बेन बेरननके ने ब्याज दरों को लेकर रुख साफ नहीं किया है।
  2. चीन में कारखाना उत्पादन गिरने से अमेरिका के बाजारों में 2011 के बाद से सबसे बड़ी गिरावट।
  3. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव छह साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंचना।
  4. ग्रीस के प्रधानमंत्री एलिक्सिस सिप्रास के इस्तीफे की वजह से यूरोजोन में नई परेशानी।

11 खरब डॉलर वार्षिक जीडीपी वाले चीन में जैसे ही बाजार लुढ़का तो भारत में भी हालात खराब हो गए और और बॉम्बे शेयर बाजार की कुल कीमत सौ खरब रुपए से नीचे आ गई। शेयरहोल्डर्स के बीच फैले अविश्वास को खत्म करने के लिए खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली और गवर्नर रघुराम राजन को मोर्चा संभालना पड़ा। गवर्नर ने कहा कि भारत के पास 380 अरब डॉलर का विदेशी मुद्रा भंडार है जो भारत को एक मजबूत स्थिति प्रदान करता है।

जहां भारतीय मुद्रा डॉलर के मुकाबले 3.5 अंक गिर गया, अब एक डॉलर की कीमत 66.5 भारतीय रुपए है। वहीं एशियाई बाजारों शंघाई कंपोजिट 9%, हेंगशेंग 4%, निक्केई  3% और कोस्पी 2% तक गिर गए। इससे पहले 2008 में भारतीय सेंसेक्स में 2,273 अंकों की गिरावट दर्ज की गई थी। ताजा गिरावट की वजह से निवेशकों को करीब सात लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

चीन  की अर्थव्यवस्था इस समय जिन परेशानियों से गुजर रही है, वह किसी से छिपी नहीं है। नब्बे के दशक की शुरुआत से चीन ने निर्यात आधारित अर्थव्यवस्था की रणनीति अपनाई और विश्व बाजार में वह अपनी हिस्सेदारी लगातार बढ़ाता गया। इस कामयाबी वजह सस्ते श्रम पर उपलब्ध कर्मचारी और भारी भरकम निवेश दर।
चीन की अतुलनीय तरक्की की रफ्तार ने विश्व को अचंभित कर दिया लेकिन  2010 के आते ही यह वयवस्था चरमराने लगी। चीन के बाजार मे दीमक लग चुका है, अब देखना ये होगा कि भारत कैसे अपने आप को कैसे इस संकट से उबारता है। क्योंकि वर्तमान स्थितियों के हिसाब से स्थिति और भी जटिल हो सकती है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s